शौरीपुर-बटेश्वर Shauripur-Bateshwar

NAME

शौरीपुर-बटेश्वर
सिद्ध क्षेत्र

ADDRESS

श्री शौरीपुर–बटेश्वर दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र, ग्राम-बटेश्वर, तह, बाह, जिला-आगरा-2831 04

CONTACT NUMBER

0561 4-234717, बटेश्वर 0 561 4-234750 शौरीपुर प्रबंधक – श्रीसोहनलाल जैन-0894 1 8791 0 1 ,

स, सूत्र – श्री स्वरूप चंद जैन, अध्यक्ष (0562-252 0 0 27)

FACILITIES

सुविधायुक्त 33 कमरे एवं सामान्य 5 एवं हॉल 2 है। भोजनशाला नियमित, सशुल्क है। आवास व्यवस्था बटेश्वर में है।

GUIDANCE

फिरोजाबाद स्टे, 35 किमी. एवं आगरा-70 किमी.। आगरा से फिरोजाबाद, शिकोहाबाद होते हुये बटेश्वर पहुंचते हैं। बटेश्वर से शौरीपुर 2 एवं बाह 7 किमी. है। | श्री शांतिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर (एम डी. इंटर कॉलेज) अहिंसा चौक हरि पर्वत आगरा से प्रतिदिन 7.30 बजे प्रातः कमेटी की बस एत्मादपुर (त्रिमूर्ति) फिरोजाबाद, शिकोहाबाद के दर्शन कराते हुये बटेश्वर एवं शौरीपुर पहुंचती है। सम्पर्क 0562-2854863, 094125-42835 |

NEAR BY CITIES

समीपवर्ती स्थल :इटावा, भिंड, आगरा, मथुरा, वृंदावन है।।

KSHETRA DETAILS

क्षेत्र पर 3 मंदिर है। शौरीपुर राजा शूरसेन की राजधानी रही है। प्राचीन ऐतिहासिक नगरी है। बटेश्वर मंदिर यमुना नदी के किनारे है। मंदिर 3 मंजिला है। 2 मंजिल जमीन के नीचे है। मूलनायक अजितनाथ भगवान की मूर्ति के अलावा छोटी-बड़ी सैकड़ों मूर्तियां है।नवीन धर्मशाला, शोध एवं अध्ययन भवन, पुरातत्व संग्रहालय एवं नवीन द्वार का निर्माण हो चुका है। । शौरीपुर बटेश्वर से 2 किमी. है।यहां मुख्य मंदिर 2 मंजिला है।दूसरा मदिर बरूआ मठ प्राचीन है। चौक में भगवान नेमिनाथ की प्रतिमा विराजमान है। शौरीपुर नेमिनाथ भगवान की गर्भ, जन्म कल्याणक भूमि है। कई मुनिया की निर्वाण स्थली रही है। क्षेत्र अति प्राचीन एवं महाभारत कालीन है।
नेमिनाथ भगवान श्री कृष्ण के चचेरे भाई थे । जरासंध (राजगृही का शासक) के आक्रमणों से परेशान यादव इस क्षेत्र को छोड़ कर द्वारकाँ जा बसे । क्षेत्र के भूगर्भ से मूर्तियां मिलती रहती है।

OTHER DETAILS 

बटेश्वर यमुना तट पर स्थित प्रमुख शैवतीर्थ है। बटेश्वर महादेव का प्रसिद्ध मंदिर है। कार्तिक पूर्णिमा पर लॉखों लोग यमुना में स्नान करने आते हैं। यहा का पशु मेला भी प्रसिद्ध है। राजा शूरसेन की राजधानी सूर्यपुर थी जो बदलकर शौरीपुर हो गई। शौरीपुर में श्वेताम्बर मदिर एवं धर्मशाला पास ही है। भोजनशाला नहीं है।

जैन तीर्थ दर्शन में लखनऊ रास्ते का प्रमुख शहर है। यहां 6 जैन मंदिर मुख्य है, जैनों की संख्या काफी है। जैनियों के लिये यहां का राजकीय संग्रहालय, जैन स्थापत्य कला के लिए देखने योग्य है। | आवास : चार बाग रेलवे स्टेशन एवं बस अड्डा से 1 किमी पर मुन्नेलाल कागजी की धर्मशाला एवं मंदिर है। अन्य मंदिर चौक, डालीगंज और यहियागंज में है। बड़ा इमाम बाड़ा के पास यूपी सरकार का गोमती होटल सप्र मार्ग पर (0522-232662), मध्यम होटलों में मोहन होटल, कोहीनूर, उच्च होटलों में क्लार्क अवध, कार्लटन आदि हैं। सम्पर्क : श्री अजय जैन-0522-2637273(मंदिर एवं धर्मशाला) ।
पर्यटन स्थल : छोटा इमाम बाड़ा (कांच का कार्य) बड़ा इमाम बाड़ा (भव्य, विशाल एवं मस्जिद) अंग्रेजों की बस्ती-रेजिडेंसी, गोमती नदी के किनारे बुद्ध पार्क, हाथी पार्क, अम्बेडकर पार्क, शहीद स्मारक, चिनहट पिकनिक स्पाट मुख्य स्थलों में है। यहां के चिकन कुर्ता-पजामा एवं साड़ियाँ मशहूर है।चौक एवं हजरतगंज मुख्य बाजार है।