मानतुंगगिरी (धार) Mantunggiri

NAME

श्री दिगम्बर जैन अतिशय क्षेत्र

ADDRESS

मानतुंगगिरी-454001, जिला-धार

CONTACT DETAILS

07292-233400, स. सूत्र: श्री सुभाष जैन, पत्रकार (07292-232475), प्रबंधक – श्री बसंत कुमार जैन,मो. : 094245-80671, सं. सूत्र : श्री अशोक कासलीवाल- 094248-22478

FACILITIES

सुविधायुक्त 3, सामान्य-4 एवं 1 हॉल है। भोजन सशुल्क उपलब्ध है।

GUIDANCE

इंदौर से दाहोद-अहमदाबाद रोड पर धार से क्षेत्र 3 किमी. है। क्षेत्र एक टेकरी पर है। क्षेत्र तक वाहन जाते हैं। मंदिर एवं धर्मशाला एक ही केम्पस में है। क्षेत्र के सामने श्वेताम्बर मंदिर भक्तामर अभ्युदय तीर्थ नया बना है। मंदिर एवं धर्मशाला विशाल है।फोन : 07292-232245

NEAR BY CITIES

आहजी तीर्थ 13 किमी, गोम्मटगिरी-64, वनेडिया-70, मोहनखेड़ा (राजगढ़) – 45 किमी., मांडू (किला)-30, रतलाम-80 किमी.

KSHETRA DETAILS

राजा भोज के समय मानतुंगाचार्य द्वारा भक्तामर स्त्रोत की रचना, जैन धर्म की प्रभावना एवं महत्ता को स्थापित करने के लिये की गई थी। उनके सम्मान में आचार्य श्री भरत सागर महाराज की प्रेरणा से नवोदित तीर्थ का निर्माण किया गया है। विकास कार्य जारी है। क्षेत्र पर 3 मंदिर है।एक कार्यालय के पास एवं 2 ऊँची टेकरी पर।

OTHER DETAILS

मांडू : धार से यह स्थल 33 किमी. है।इंदौर 90 किमी. है।इंदौर से मऊ, धामनोद होकर भी पहुंच सकते हैं। बस स्टेण्ड से किला 1 0 0 मीटर है। पं. आशाधर जी का स्थान नालछा यहां से 10 किमी. है। मऊ, धामनोद होकर जाने में मांडू पर्यटन स्थल पहले आता है।कागदीपुरा से 3 किमी है।
सुविधायें : श्वेताम्बर मंदिर धर्मशाला सर्वसुविधायुक्त है। फोन : 07292-263235, मध्यप्रदेश टूरिज्म होटल – मालवा रिसोर्ट, फोन : 07292-263235 | दर्शनीय स्थान : रानी रूपमती एवं बाज बहादुर की प्रेमकथा का प्रतीक मांडू किले में अशर्फी महल, जामा मस्जिद, रूपमती महल, हिंडोला महल, जहाज महल एवं अन्य कई दर्शनीय स्थान है। नर्मदा के किनारे शांत एवं रमणीय स्थान पर किला है। पूरा देखने में 6 से 8 घंटे आवश्यक है।रेवा कुंड पवित्र स्थान यहां से 10 किमी. है।
आहूजी दिग. तीर्थ : श्री दिगम्बर अ. क्षेत्र आहूजी (धार) धार से 13 एवं इंदौर से 65 किमी. है। संकट मोचन पार्श्वनाथ क्षेत्र के नाम से मान्यता है। मंदिर एक है। प्रतिमा 500 वर्ष प्राचीन है। क्षेत्र का जीर्णोद्धार एवं विकास कार्य जारी है। सुविधायें अपेक्षित है। स सूत्र : श्री पंकज जैन पापलिया (07292-265325, 406291) | श्री मोहनखेड़ा तीर्थ : आदिनाथ भगवान का प्रसिद्ध श्वेताम्बर तीर्थ क्षेत्र धार से 45 एवं राजगढ़ से 3 किमी. है। इंदौर 1 1 3 किमी. है। सर्वसुविधायुक्त विशाल धर्मशालायें है। फोन : 07296-232225, 235320 सम्पर्क : सेठ श्री सुजानमल जैन-094259-39053, प्रबंधक : श्री महेन्द्र कुमार जैन-094259-68997, आवास एवं भोजन निःशुल्क है।

कागदीपुरा- 454 0 0 1 (जिला-धार) 07 2 9 2-2 2 3 4 3 2 , स्थानीय पृ बान श्री दीपक
फोन : पुजारी-08959990791, सं. सूत्र: श्री विनय छाबड़ा (बगडी) अध्यक्ष – 09425967460
सुविधाएं : कमरे अटेच 8, हॉल-1, भोजन उपलब्ध अनुरोध पर।। | भूगर्भ से 2007 में भगवान महावीर स्वामी की प्रतिमा प्राप्त हुई जिसे वहीं पर स्थापित किया गया है। मंदिर व धर्मशाला एक ही परिसर में है। क्षेत्र धार से मांडू के रास्ते में रोड से 1 किमी अंदर है। बगड़ी-8, धार-22, मांडू-11,इन्दौर-75 किमी. है।
विशेष : धार पर्यटन स्थल है। इसके निकट मांडू (मांडवगढ़) मध्यप्रदेश का प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। पास में आहूजी, मोहनखेड़ा तीर्थ दर्शनीय है।