बावनगजा Bawangaja

NAME

श्री दिगम्बर जैन सिद्ध क्षेत्र

ADDRESS

बावनगजा-451 551 (चूलगिरी), जिला-बड़वानी

CONTACT DETAILS

07290-291 01 0, 291718, प्रबंधक श्री इंद्रजीत मंडलोई (094250-90384), श्री राजकुमार जैन, अध्यक्ष मनावर – 098937-37000

FACILITIES

क्षेत्र पर कई अलग-अलग धर्मशालाओं में सुविधायुक्त 38 कमरे हैं, 4 हॉल एवं गेस्ट हाउस 6 है। भोजन नियमित एवं सशुल्क है।

GUIDANCE

इंदौर-धुले-नासिक मार्ग पर जुल्वाानिया से क्षेत्र 55 किमी. है। बड़वानी से क्षेत्र 8 किमी पहाड़ पर है। रोड चूल गिरी पर समाप्त होता है।बसे/कार क्षेत्र तक जाती है ।ऊन (पावागिरी) से क्षेत्र 83 किमी. है।

NEAR BY CITIES

इदौर 175, धार 110, तालनपुर-40, पावागढ़-220, ऊन80, सिद्धवरकूट-180, मुक्तागिरी-421, खंडवा-188, धार-1 18, मांगीतुंगी-274, पुष्पगिरी-51 3 किमी.। इंदौर, खंडवा, बड़ौदा से सीधी बस सुविधा है।जयपुर से सुविधा चालू हुई है।

KSHETRA DETAILS

पहाड़ पर 11 मंदिर एवं तलहटी में 1 5 मंदिर है। तलहटी से मंदिर तक 800 सीढ़ियां है। धर्मशालायें पहाड़ की तलहटी में है। मंदिर समूह विशाल परिसर में है। पहाड़ पर चट्टान में तराशी भारत में आदिनाथ भगवान की सर्वाधिक ऊँचाई की प्रतिमा अद्भुत है। प्रतिमा 52 हाथ की ऊँचाई में 84 फुट है। अतः क्षेत्र को बावनगजा कहते हैं। यहां से कुंभकर्ण एवं इंद्रजीत सहित कई मुनि मोक्ष गये थे अतः इसे सिद्ध क्षेत्र माना गया है। क्षेत्र पर 12 वर्षों में महामस्तकाभिषेक एवं मेला आयोजित होता है।
मूर्ति का जीर्णोद्धार 1986 में किया गया । सन् 2006 में दानवीर श्री भरत कुमार मोदी इंदौर द्वारा सहयोग से प्रतिभा का नवीन शिखर तथा पिल्लरों पर अष्ट प्रतिहार्य एवं सोलह स्वप्न के मार्बल पेनल लगाये गये। 22 जून 2010 को एक खेत से स, 1496 वर्ष प्राचीन प्रतिमा लगभग ढाई फुट की पाश्र्वनाथ भगवान की प्राप्त हुई है।

OTHER DETAILS

पाश्र्वगिरी (बड़वानी) बड़वानी से बावनगजा के मध्य 4 किमी. पर पार्वगिरी तीर्थ क्षेत्र है। प्राचीन क्षेत्र है। पहाड़ पर 9 मंदिर है। पाश्र्वनाथ की प्रतिमा स्थापित है। क्षेत्र का हाल में जीर्णोद्धार हुआ है। आवास की व्यवस्था है। भोजनशाला नहीं है। स. सूत्र : श्री ओम प्रकाश जैन 07290 – 222690, प्रबंधक – श्री राजेन्द्र सिंह वघेल – 094074-00551
बड़वानी : जिला मुख्यालय है। नेमिनाथ मंदिर विशाल एवं दर्शनीय है। साथ में धर्मशाला भी है। यहां से बावनगजा क्षेत्र 8 किमी. है।
६ तालनपुर (कुक्षी) : क्षेत्र पर एक मंदिर है। बावनगजा से बड़वानी होकर तालनपुर 27 किमी. है। तालनपुर अतिशय क्षेत्र है। यहां भूगर्भ से 1 3 मूर्तियां निकली थी ।इनमें से 8 मूर्तियां श्वेताम्बर समाज ने तथा 5 बड़ी मूर्तियां दिगम्बर समाज ने रखी। दोनों मंदिर पास पास है। धर्मशाला है। भोजन सशुल्क है। इंदौर से धार-राजगढ़ कुक्षी-तालनपुर होकर भी बड़वानी पहुंच सकते हैं।
| कुक्षी-4, पावागढ़-150 किमी, दाहोद-11 0, धार-45, बावनगजा-39 किमी., सम्पर्क – श्री राजप्रकाश पहाड़िया094259-14354, कुक्षी 07297 – 232584, 234836, क्षेत्र के निकट सर्वसुविधायुक्त श्वेताम्बर मंदिर एवं धर्मशाला है।नाम है राज राजेन्द्र जयंत सेन विहार, फोन : 07297-233306
प्रमुख दूरियां : बावनगजा से ऊन-80, सिद्धवरकूट-180 (वाया ऊन जुल्वानिया), गोम्मटगिरी-170, बनेड़िया-190 (वाया गोम्मटगिरी) नेमावर-295 वाया इंदौर-खातेगांव, तालनपुर-40, पावागढ़-220 वाया अलीराजपुर लक्ष्मणीतीर्थ (श्वे.) 1 1 0 (अलीराजपुर से 15 किमी. पहले)